By: – Dr Sushil Kumar, M.V.Sc, BASU, Patna 800014, India

एनिमल ब्रीडिंग, फार्म का आर्थिक स्तभ है, प्रजनन चक्र को सुचारू रूप सम्पादित करने के लिए कृत्रिम गर्भाधान को

एक कृत्रिम गर्भाधान  तकनीशियन (A.I.T) मादा पशुओं में विशिष्ट उपकरणों की सहायता से अछि गुनबता बाला वीर्य डाल कर पशु के गर्भ को सुनिश्चित करता है ।

एक ए.आई. तकनीशियन को प्रजनन पथ में वीर्य का सही स्थान सुनिश्चित करने के लिए पशु शरीर रचना विज्ञानं  का ज्ञान होना चाहिए, पशुओं में मासिक चक्र, मादा एवं नर प्रजनन तंत्र की फिजियोलॉजी का समझ हो । तथा वीर्य का मूल्यांकन, संरक्षण, परिवहन करते हैं, कृत्रिम गर्भाधान के लिए वीर्य तैयार करते हैं, प्रजनकों और किसानों को प्रजनन परामर्श देते हैं और पशु के लिए गर्भावस्था जांच करते हैं।

  कृत्रिम गर्भाधान  तकनीशियन (A.I.T) की जिम्मेदारीयां क्या है ?

  1. ए.आई. ग्राहकों के लिए सेवाएं प्रदान करना ।

२. फार्म में उचित स्वच्छता बनाए रखना ।

३. पशुधन के साथ काम करते समय मानवीय हैंडलिंग तकनीकी का पालन करना ।

४. हीट डिटेक्शन के साथ-साथ एस्ट्स चक्र पर नजर रखना ।

5. गर्भाधान के लिए सीमेन स्ट्रा का संरक्षण, परिवहन, थाविंग और वीर्य तैयार करना ।

6. ग्राहकों के लिए नए और वर्तमान उत्पादों / सेवाओं को बढ़ावा देना ।

7. प्रजनकों और किसानों को प्रजनन संबंधी परामर्श देना ।

8. गर्भवती की गर्भावस्था की जाँच करना ।

9. फार्म पर्यवेक्षकों के साथ मिलकर फार्म के उत्पादन में ब्रिधि करना ।

10. गर्भाधान सेवाओं का रिकॉर्ड रखना ।

11. आवश्यकतानुसार टीकाकरण करना ।

                                                                 कृत्रिम गर्भाधान तकनीशिय